toggle-button

आयुर्वेद विभाग में आपका स्वागत है।


आयुर्वेद (आयुः+वेद) इन दो शब्दों के मिलने से बने आयुर्वेद शब्द का अर्थ है ''जीवन विज्ञान''। आयुर्वेद का प्रलेखन वेदों में वर्णित है। आयुर्वेद अथवा भारतीय जीवन विज्ञान के उद्गम से संबद्ध है और उसका विकास विभिन्न वैदिक मंत्रों से हुआ है, जिनमें संसार तथा जीवन, रोगों तथा औषधियों के मूल तत्व/दर्श्‍ान का वर्णन किया गया है। आयुर्वेद के ज्ञान को चरक संहिता तथा सुश्रुत संहिता में व्यापक रूप से प्रलेखित किया गया था। आयुर्वेद के अनुसार जीवन के उद्देश्‍यों-धर्म, अर्थ, काम और मोक्ष की प्राप्ति के लिए स्वास्थ्य पूर्वापेक्षित है। आयुर्वेद मानव के शारीरिक, मानसिक तथा आध्यात्मिक और सामाजिक पहलुओं का पूर्ण समाकलन करता है, जो एक दूसरे को प्रभावित करते है। 

भारतीय चिकित्सा पद्धति के अंतर्गत वे पद्धतियां आती है, जो भारत में उदभूत हुई, या भारत के बाहर उदभूत हुई परंतु कालांतर में भारत में अपना ली गई और अपने अनुकूल कर ली गई है। ये पद्धतियां है आयुर्वेद, सिद्ध, योग और प्राकृतिक चिकित्सा । आयुर्वेद आदि पद्धतियां जनसंख्या के एक बडे भाग को, विशेषकर ग्रामीण क्षेत्रो में स्वास्थ्य सेवा सुविधाएं उपलब्ध करा रही है। देश के अधिकांश राज्यों में भारतीय चिकित्सा पद्धति लोकप्रिय है। न केवल भारत वरन्‌ विश्‍व के अन्य भागों के लोग भी आधुनिक दवाइयों की तुलना में पार्श्‍व प्रभावों से रहित होने के कारण इन पद्धतियों के जरिए उपचार कराने में इच्छुक होते जा रहे है।

आयुर्वेद विभाग, राजस्‍थान
image2.jpg

योग एवं प्राकृतिक चिकित्‍सा सेवा

योग मुख्यतः एक जीवन पद्धति है, जिसे पतंजलि ने क्रमबद्ध ढंग से प्रस्तुत किया था। इसमें यम, नियम, आसन,प्राणायाम, प्रत्याहार, धारणा, ध्यान व समाधि आठ अंग है। योग के इन अंगों के अभ्यास से सामाजिक तथा व्यक्तिगत आचरण में सुधार आता है, शरीर में ऑक्सीजन युक्त रक्त के भली-भॉति संचार होने से शारीरिक स्वास्थ्य में सुधार होता है, इंद्रियां संयमित होती है तथा मन को शांति एवं पवित्रता मिलती है। योग के अभ्यास से मनोदैहिक विकारों/व्याधियों की रोकथाम, शरीर में प्रतिरोधक शक्ति की बढोतरी तथा तनावपूर्ण परिस्थितियों में सहनशक्ति की क्षमता आती है। ध्यान का, जो आठ अंगो में से एक है, यदि नियमित अभ्यास किया जाए तो शारीरिक अहितकर प्रतिक्रियाओं को घटाने की क्षमता बढती है, जिससे मन को सीधे ही अधिक फलदायक कार्यो में संलग्न किया जा सकता है। 

प्राकृतिक चिकित्सा न केवल उपचार की पद्धति है, अपितु यह एक जीवन पद्धति है । इसे बहुधा औषधि विहीन उपचार पद्धति कहा जाता है।

Prakratic%20chikitsa.jpg

पंचकर्म

पंचकर्म आयुर्वेद का एक प्रमुख शुद्धिकरण एवं मद्यहरण उपचार है। पंचकर्म का अर्थ पाँच विभिन्न चिकित्साओं का संमिश्रण है। इस प्रक्रिया का प्रयोग शरीर को बीमारियों एवं कुपोषण द्वारा छोड़े गये विषैले पदार्थों से निर्मल करने के लिये होता है। आयुर्वेद कहता है कि असंतुलित दोष अपशिष्ट पदार्थ उतपन्न करता है जिसे ’अम’ कहा जाता है। यह दुर्गंधयुक्त, चिपचिपा, हानिकारक पदार्थ होता है जिसे शरीर से यथासंभव संपूर्ण रूप से निकालना आवश्यक है। ’अम’ के निर्माण को रोकने के लिये आयुर्वेदिक साहित्य व्यक्ति को उचित आहार देने के साथ उपयुक्त जीवन शैली, आदतें तथा व्यायाम पर रखने, तथा पंचकर्म जैसे एक उचित निर्मलीकरण कार्यक्रम को लागू करने की सलाह देते हैं।

पंचकर्म एक प्रक्रिया है; यह ’शोदन’ नामक शुद्धिकरण प्रक्रियाओं से संबंधित चिकित्साओं के समूह का एक भाग है। पंचकर्म के पाँच चिकित्सा ’वमन’ ’विरेचन, ’नास्य’, ’बस्ती’ एवं ’रक्त मोक्षण” हैं। दोषों को संतुलित करने के समय पाँच चिकित्साओं की यह शॄंखला शरीर के अंदर जीवविष पैदा करने वाले गहरे रूप से आधारित तनाव एवं रोग को दूर करने में मदद करता है।

यह हमारे दोषों में संतुलन वापस लाता है एवं स्वेद ग्रंथियों, मूत्र मार्ग, आँतों आदि अपशिष्ट पदार्थों को उत्सर्जित करने वाले मार्गों के माध्यम से शरीर से ’अम’ को साफ करता है। पंचकर्म, इस प्रकार, एक संतुलित कार्य प्रणाली हैI इसमें प्रतिदिन मालिश शामिल है और यह एक अत्यंत सुखद अनुभव है। हमारे मन एवं शरीर व्यवस्था को दुरूस्त करने के लिये आयुर्वेद पंचकर्म  को एक मौसमी उपचार के रूप में सलाह देता है।

 

नवीन गतिविधियां

 

मंत्रालयिक संवर्ग सेवानिवृति आदेश दिनांक 19-01-2022

राजपत्रित अधिकारी के 1 जनवरी 2022 से 31 मार्च 2022 तक के सेवानिवृति आदेश में शुद्धि आदेश दिनांक 19-01-2022

आरोग्य मेला वर्ष 2022 हेतु ई-बोली विज्ञप्ति वर्ष 2021-22

क्षारसूत्र केन्द्र (चिकित्सालय) में उपकरण क्रय करने हेतु ई-बोली विज्ञप्ति वर्ष 2021-22

आयुर्वेदिक औषधियों के लिए कच्चे घटक द्रव्यों के क्रय हेतु इ-बोली विज्ञाप्ति 2021-22

कोविड—19 प्रशिक्षण के संबंध में विविध विषयों पर Online Training Module हेतु लिंक

वरिष्ठ नर्स/कम्पाउण्डर की स्थाई वरिष्ठता सूची दिनांक 01.04.2021

योग्‍यताधारी चतुर्थ श्रेणी संवर्ग की स्‍थायी वरिष्‍ठता सूची 01.04.2021

कनिष्‍ठ सहायक की अंतिम वरिष्‍ठता सूची 01.04.2021

वरिष्‍ठ सहायक की अंतिम वरिष्‍ठता सूची 01.04.2021

अनुकम्पा नियुक्ति आदेश दिनांक 31.12.2021

डिप्लोमा इन आयुष नर्सिंग एंड फार्मेसी हेतु काउंसलिंग अग्रिम आदेशो तक स्थगित

निदेशक पद का कार्यभार आदान—प्रदान दिनांक 15.12.2021

1 जनवरी 2022 से 31 मार्च 2022 तक सेवानिवृत होने वाले अधिकारियो की सूची आदेश

डॉ. पुरूषोत्तम लाल शर्मा, वरिष्ठ आयुर्वेद चिकित्साधिकारी ग्रेड—ा पदोन्नति आदेश दिनांक 14.12.2021

डिप्लोमा इन आयुष नर्सिंग एंड फार्मेसी हेतु काउंसलिंग की सूचना

चिकित्सालयों/औषधालयों में बहिरंग रोगियों को देखने का समय परिवर्तन दिनांक 09.12.2021

लक्ष्मी शर्मा आयुर्वेद नर्स औषधालय जोबनेर नियुक्ति आदेश निरस्त दिनांक 07.12.2021

108 आयु.चिकि.PG परीक्षा अनापत्ति

सहायक प्रशासनिक अधिकारी अस्थायी वरिष्ठता सूची 1-4-2021

नव नियुक्त चिकित्साधिकारी डॉ. सीमा वर्मा एवं डॉ. मीना कुमारी कार्यग्रहण में अभिवृद्धि स्वीकृति

निरीक्षण प्रारूप

संचालित मुख्यमंत्री युवा सम्बल योजना—2019

नव नियुक्त चिकित्साधिकारी डॉ. सुमन कुमारी एवं डॉ. कोमल गुर्जर के संबंध में आदेश दिनांक 22.11.2021

आयुर्वेद चिकित्साधिकारियों के संशोधित नियुक्ति आदेश दिनांक 17.11.2021

आयुर्वेद चिकित्साधिकारियों के संशोधित नियुक्ति आदेश दिनांक 16.11.2021

योग्यताधारी चतुर्थ श्रेणी संवर्ग अस्थाई वरिष्ठता सूची 01—04—2021

कनिष्ठ सहायक अस्थाई वरिष्ठता सूची 01—04—2021

वरिष्ठ सहायक अस्थाई वरिष्ठता सूची 01—04—2021

आयुर्वेद चिकित्साधिकारियों के संशोधित नियुक्ति आदेश दिनांक 11.11.2021

कनिष्ठ नर्स/कम्पाउण्डर की दिनांक 01.04.2021 की स्थिति में अस्थाई वरिष्ठता सूची दिनांक 11.11.2021

मंत्रालयिक संवर्ग के पदौन्नत अधिकारियों/कर्मचारियों के पदस्थापन आदेश दिनांक 09.11.2021

वरिष्ठ नर्स—कम्पाउडर 01.04.2021 की स्थिति में अस्थाई वरिष्ठता सूची 08.11.2021

नवनियुक्‍त आयुर्वेद चिकित्‍साधिकारियों के संबंध में आदेश दिनांक 08.11.2021

नवनियुक्त आयुर्वेद चिकित्साधिकारी के संबंध में

उपनिदेशक/वरिष्ठ आयुर्वेद चिकित्साधिकारी ग्रेड—ा के पदोन्नति आदेश

आयुर्वेद चिकित्साधिकारियों के पदस्थापन में संशोधन आदेश

इलेक्‍ट्रॉनिक, किचन एवं कपडे बिस्‍तर -आईटम क्रय हेतु ई-बोली विज्ञप्ति वर्ष 2021-22

फर्नीचर क्रय हेतु ई-बोली विज्ञप्ति वर्ष 2021-22

उपकरण क्रय हेतु ई-बोली विज्ञप्ति वर्ष 2021-22

लैपटॉप क्रय हेतु ई-बोली विज्ञप्ति वर्ष 2021-22

उपकरण क्रय हेतु ई-बोली विज्ञप्ति वर्ष 2021-22

फर्नीचर क्रय हेतु ई-बोली विज्ञप्ति वर्ष 2021-22

वित्त वर्ष 2021-22 में सेवानिवृत होने वाले नर्स-कम्पा0 के आदेश दिनांक 27.10.2021

आयुर्वेद चिकित्साधिकरियो के नियुक्ति/पदस्थापन आदेश

विज्ञप्ति संख्या 1/2021  (संशोधित विज्ञप्ति संख्या 1/2020) के अन्तर्गत आयुर्वेद चिकित्साधिकारियों की नियुक्ति/पदस्थापन हेतु विकल्प पत्र (पीडीएफ)

विज्ञप्ति संख्या 1/2021  (संशोधित विज्ञप्ति संख्या 1/2020) के अन्तर्गत आयुर्वेद चिकित्साधिकारियों की नियुक्ति/पदस्थापन हेतु विकल्प पत्र (एक्सेल)

डिप्लोमा इन आयुष नर्सिंग एण्ड फार्मेसी सत्र 2021-22 में प्रवेश हेतु सूचना

ई—बोली विज्ञप्ति वर्ष 2021—22 रसायनशालाओं हेतु आई.पी.बी.पी. आईटम क्रय हेतु दिनांक 08.10.2021

ई—बोली विज्ञप्ति वर्ष 2021—22 पैकिंग साम्रगी क्रय हेतु दिनांक 08.10.2021

अल्पकालीन ई—बोली विज्ञप्ति वर्ष 2021—22 आयुर्वेदिक औषधियों के लिए कच्चे घटक द्रव्यों के क्रय हेतु दिनांक 08.10.2021

धनवन्तरी जयन्ती 2021 के अवसर पर उत्कृष्ट कार्य करने वालों को सम्मानित करने के संबंध में दिनांक 23.09.2021

भामाशाह सम्मान 2021 के संबंध में 

ई—बोली विज्ञप्ति प्रयोगशाला उपकरण क्रय किये जाने हेतु दिनांक 21.09़.2021   

कनिष्ठ सहायक पदौन्नति आदेश दिनांक 20.09.2021

प्रशासन गांवों के संग अभियान में किये जाने वाले क्रियाकलापों के सम्बन्ध में।

11 आयुर्वेद चिकित्साधिकारियों के एसीपी स्वीकृति आदेश दिनांक 09.09.2021

सहायक प्रशासनिक अधिकारी पदौन्नति आदेश दिनांक 07.09.2021

वरिष्ठ सहायक पदौन्नति आदेश दिनांक 07.09.2021

वरिष्ठ सहायक पदौन्नति आदेश दिनांक 07.09.2021

प्रशासनिक अधिकारी के पदौन्नति आदेश दिनांक 02.09.2021

वरिष्ट नर्स कम्पा. पदौन्नती आदेश वर्ष 2017-18, 2018-19, 2019-20 में स्थगित (Defer) पदौन्नती आदेश दिनांक 2-9-21

नर्सिंग अधीक्षक I (प्रथम) पदौन्नती आदेश दिनांक 2-9-21

वरिष्ट नर्स - कम्पाउंडर पदौन्नती आदेश दिनांक 2-9-21

चिकित्सा कार्मिकों के अवकाश पर प्रतिबंध संबंधी आदेश 

कम्यूटर, प्रिन्टर, यू.पी.एस. क्रय करने हेतु ई-बोली विज्ञप्ति वर्ष 2021-22

पोस्ट कोविड पुनर्वास हेतु प्रोटोकाॅल दिनांक 14.06.2021

आयुर्वेद औषधालयों की सूची जिनको आयुष हैल्थ एण्ड वैलनेस केन्द्र  के रूप में चयनित किया है दिनांक 05.03.2021

सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी(CHO) के दायित्वों  का निर्वहन करवाये जाने के संबंध में।

चिकित्‍सालयों/औषधालयों में बहिरंग रोगियों का देखने (ओपीडी) का समय परिवर्तन

विभागीय चिकित्‍साधिकारियों के केडर रिव्‍यू के पश्‍चात निरीक्षणों एवं रात्रि विश्राम के नॉर्म्‍स दिनांक 06-10-2020

आयुर्वेद चिकित्सा धिकारी की अनुपस्थिति में रोगियों को औषधालयों में उपलब्ध सामान्यत औषधियों द्वारा प्राथमिक उपचार के सम्बवन्ध  में।

कोरोना महामारी के दौरान लिए गए महत्वपूर्ण निर्णय

विभागीय अधिकारियों के मोबाईल नम्बर

 

 

मुखपृष्‍ठ

डॉ सुभाष गर्ग

आयुर्वेद और भारतीय चिकित्‍सा विभाग (स्वतंत्र प्रभार)

राजस्‍थान-सरकार

मुखपृष्‍ठ

INTERNATIONAL DAY OF YOGA (IDY 2021)

योग के साथ रहे,

घर पर रहे!

GENERAL PROTOCOL YOG DIWAS

YOG DIWAS THEME 2021

COMMON YOGA PROTOCOL VIDEO

COMMON YOGA PROTOCOL

LATEST UPDATES
Contact Us

Nodal Officer for CAG Report & PAC Recommendation:   

Chandra Shekhar Sharma (Chief Account Officer)

Phone-0145-2623943

 

Rajasthan Ayurved Nursing Council, Jaipur

Ph. No: 0141-2796295

 

Board of Indian Medicine, Jaipur

Ph. No: 0141-2796975

 

Assistant Drug Controller(Ayurved)

Mob. No:- 8875551888

 

Nodal Officer of Department: Mahendra Mathur (Deputy Director)               

Email: dir.ayu@rajasthan.gov.in, addldir.ayu@rajasthan.gov.in

Ph. No: 0145-2425835, 0145-2425047