toggle-button
राज्‍य में अन्‍य आयुष संस्‍थान

राज्‍य में अन्‍य आयुष संस्‍थान

डॉ सर्वपल्‍ली राधाकृष्‍णन राजस्थान आयुर्वेद विश्‍वविद्यालय, जोधपुर

 

 

विश्‍वविद्यालय की स्थापना - सितम्‍बर 2002

भवन का शिलान्‍यास -       10 मार्च 2003

आवंटित भूमि -               854 बीघा 03 बिस्‍वा 

देश का दूसरा आयुर्वेद विश्‍विद्यालय

प्रशांसनिक खण्ड- नागौर रोड, करवड जोधपुर

नगर परिसर- पुराना पाली रोड झालामन्ड सर्किल, जोधपुर

दूरभाष न. - 0291-2111702,2111704,2111677 (फैक्‍स)

Website:http://www.education.rajasthan.gov.in/raujodhpur

E-Mail: rau_jodhpur@yahoo.co.in

विश्‍वविद्यालय द्वारा संचालित पाठ्क्रम:-

1. पी.एच.डी. (आयुर्वेद)

2. एम.डी. (आयुर्वेद)

3. एम.डी. (होम्‍योपैथी)

4. बी.ए.एम.एस.

5. बी.यू.एम.एस.

6. बी.एच.एम.एस.

7. बी.एन.वाई.एस.

8. डी.ए.एन.एण्‍ड पी.

9. आयुर्वेद चिकित्‍सको हेतु त्रैमासीय पंचकर्म प्रशिक्षण कार्यक्रम

10. आयुर्वेद चिकित्‍सकों हेतु त्रैमासीय क्षारकर्म प्रमाणपत्र कार्यक्रम

11. एक वर्षीय योग एवं प्राकृतिक चिकित्‍सा प्रमाण-पत्रीय पाठ्यक्रम प्रारम्‍भ

12. एक वर्षीय पंचकर्म तकनीकी सहायक प्रशिक्षण प्रमाण-पत्रीय पाठ्यक्रम प्रारम्‍भ

13. आयुर्वेद चिकित्‍सकों हेतु जरारोग एवं रसायन चिकित्‍सा में त्रैमासिक सर्टिफिकेट कोर्स

14. पंचकर्म एवं ऑस्टियोपैथी त्रैमासिक सर्टिफिकेट कोर्स

15. बी.एस.सी. आयुर्वेद नर्सिंग प्रशिक्षण केन्‍द्र

 

विश्‍वविद्यालय से सम्बद्धता प्राप्त संस्थाऐं

विश्‍वविद्यालय के अधीन संचालित संस्थाऐं

कुलं संस्थाऐ

आयुर्वेद महाविद्यालय

7

3

10

यूनानी महाविद्यालय

3

-

3

होम्योपैथिक महाविद्यालय

4

2

6

योग महाविद्यालय

7 - 7

नर्सिग प्रशिक्षण केन्द्र

26

2

28

 

राज्‍य में अन्‍य आयुष संस्‍थान

राष्ट्रीय आयुर्वेद संस्थान, जयपुर

 

 

स्थापना - फरवरी 7, 1976

केन्द्र सरकार का स्वायतशासी निकाय

संस्थान में संचालित पाठ्क्रम

माधव विलास चिकित्सालय संस्थान परिसर में

सेठ सूरजमल बम्बईवाला चिकित्सालय किश्‍ानपोल बाजार जयपुर में

औषध निर्माणशाला

पता- माधवविलास, आमेर रोड जयपुर

दूरभाष न. 2635816, 2635740

राज्‍य में अन्‍य आयुष संस्‍थान

मदनमोहन मालवीय राजकीय आयुर्वेद महाविद्यालय, उदयपुर

 

राज्य का एक मात्र सार्वजनिक क्षेत्र का आयुर्वेद कालेज

मदन मोहन मालवीय आयुर्वेद महाविद्यालय, उदयपुर की स्‍थापना वर्ष 1944 में हुई थी। वर्तमान में स्‍नातक स्‍तरीय आयुर्वेदाचार्य पाठ्यक्रम में प्रवेश अन्‍तर्ग्रहण क्षमता 60 छात्र है। स्‍नातकोत्‍तर पाठ्यक्रम आयुर्वेद वाचस्‍पति 6 विषयों ( रसशास्‍त्र भैषज्‍य कल्‍पना, द्रव्‍यगुण विज्ञान, कायचिकित्‍सा, शल्‍य तंत्र, क्रिया शारीर व रचना शारीर) में कुल अन्‍तर्ग्रहण क्षमता 30 प्रतिवर्ष (प्रति विषय 05 छात्र) की सुविधा इस महाविद्यालय में उपलब्‍ध है। साथ ही चालू सत्र से बी.एस.सी. नर्सिंग 20 छात्र एवं एक वर्षीय पंचकर्म तकनीकी सहायक सर्टिफिकेट कोर्स में 30 छात्रों की प्रवेश अन्‍तर्ग्रहण क्षमता वाले पाठ्यक्रम प्रारम्‍भ हो गये है। समस्‍त स्‍नातक स्‍तरीय पाठ्यक्रम एवं स्‍नातकोत्‍तर पाठ्यक्रम तथा सर्टिफिकेट कोर्स में सर्वपल्‍ली डॉ राधाकृष्‍णन राजस्‍थान आयुर्वेद विश्‍वविद्यालय, जोधपुर के द्वारा प्रवेश स्‍वीकृत किये जाते है। वर्तमान में आयुर्वेदाचार्य स्‍नातक स्‍तर पर 290, बी.एस.सी. नर्सिंग पाठ्यक्रम में 20 तथा स्‍नातकोत्‍तर स्‍तर पर 58 छात्र/छात्रायें अध्‍ययनरत है। 35 छात्र/छात्रायें इन्‍टर्नशिप प्रशिक्षणरत है।

 

महाविद्यालय इकाईयां

चौदह शिक्षण विभाग:-

महाविद्यालय में भारतीय चिकित्‍सा केन्‍द्रीय परिषद, नई दिल्‍ली के न्‍यूनतम मापदण्‍डों के अनुरूप स्‍नातक स्‍तर पर कम्‍प्‍यूटरीकृत 14 विभाग सुसज्जित रूप से संचालित है, जिनमें से 06 विभाग रस शास्‍त्र, द्रव्‍यगुण विभाग, कायचिकित्‍सा, शल्‍य तंत्र, क्रिया शारीर व रचना शारीर स्‍नातकोत्‍तर रूप में क्रमोन्‍नत होकर संचालित है।

दो स्‍नातकोत्‍तर विभागों की वृद्धि:-

 

राज्‍य सरकार द्वारा वर्ष 2018-19 के बजट में माननीया मुख्‍यमंत्री महोदया द्वारा दो विभागों को स्‍नातकोत्‍तर विभाग में क्रमोन्‍नत किये जाने की घोषणा की गई है। रोग निदान एवं प्रसूति तंत्र स्‍त्री रोग विषयों में प्रति वर्ष प्रत्‍येक विभाग में पांच स्‍नातकोत्‍तर अध्‍येताओं को प्रवेश की अनुमति प्राप्‍त होगी। इस प्रकार कुल 8 विभागों में स्‍नातकोत्‍तर अध्‍ययन की सुविधा उपलब्‍ध हो सकेगी। आयुर्वेद विज्ञान के क्षेत्र में शोधपरक अध्‍ययन की सुविधा से विज्ञान को विकसित होने के अवसर प्राप्‍त होंगे।

अधीनस्थ संस्थाऐं

1. महाविद्यालय चिकित्सालय मोती चौहट्टा

2. राजवैद्य प्रेमशंकर चिकित्सालय महाविद्यालय परिसर में

3. आयुर्वेद अनुसंधान केन्‍द्र

 

अनुसंन्धान केन्द्र लेक पैलेस रोड

चरक उपवन अम्बेरी, उदयपुर

पता अम्बामाता, फतेहसागर रोड, उदयपुर

दूरभाष नं. 2431900

राजस्थान राज्य मेडिसिनल प्लान्ट्स बोर्ड, जयपुर

राज्य में जडीबूटियों के उत्पादन, विपणन, संवर्द्धन एवं संग्रहण कार्यों को समुन्नत करने हेतु राज्य स्तर पर एक औषध पादप मण्डल का गठन वर्ष 2002 से किया हुआ है । राजस्थान सोसायटीज रजिस्ट्रेशन एक्ट, 1958 के अन्तर्गत इसका पंजीयन कराया हुआ है तथा इसका कार्यालय आयुष भवन कमरा नं 106, सेक्‍टर 26, प्रतापनगर, जयपुर में है। 

इस बोर्ड द्वारा राज्य के किसानों को औषधीय वनस्पतियों को उगाने के लिये प्रोत्साहित करने का कार्य किया जा रहा है । साथ ही किसानों को विकसित कृषि तकनीक का प्रशि‍क्षण देने तथा आर्थिक सहयोग प्रदान करने का कार्य भी किया जा रहा है । इस बोर्ड के अध्यक्ष माननीय आयुर्वेद मंत्री, राजस्थान सरकार हैं । 

दूरभाष संख्‍या - 0141-5107924

 

इण्डियन मेडिसिन बोर्ड, राजस्थान, जयपुर

राजस्थान देशीय चिकित्सा अधिनियम, 1953 के अन्तर्गत आयुर्वेद व यूनानी चिकित्सकों के पंजीयन हेतु इस बोर्ड का गठन किया हुआ है । इसका कार्यालय ''बजाज नगर, जयपुर'' में स्थित है । राज्य सरकार द्वारा इस बोर्ड को प्रति वर्ष अनुदान सहायता प्रदान की जाती है । बोर्ड द्वारा 31-12-2018 तक 27850 आयुर्वेद व 2204 यूनानी चिकित्सको को पंजीकृत किया गया है, साथ ही 60 योग एवं प्राकृतिक चिकित्‍सकों का पंजीयन किया जा चुका है। 

दूरभाष संख्‍या - 0141 -2706816